Biography मुकेश अंबानी

भारत के जाने-माने उद्योगपति मुकेश अंबानी के बारे में हर कोई जानना चाहता है। मुकेश अंबानी एक भारतीय उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्री के अध्यक्ष तथा प्रबंधक निदेशक है।

मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन में हुआ था। वह एक भारतीय व्यवसाई है और फ़ॉरगोट सूची के अनुसार 2018 में लगभग 40.1 अरब डॉलर की निजी संपत्ति के साथ दुनिया के 19 वे सबसे अमीर व्यक्ति है।

कार्यक्षेत्र

मुकेश अंबानी एक उद्योगपति, रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष के रूप में जाने जाते हैं।

मुकेश अंबानी एक भारतीय उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्री के अध्यक्ष तथा प्रबंधक निदेशक के रूप में पूरे विश्व में जाने जाते हैं। इसके साथ-साथ पूरी दुनिया में सबसे धनी व्यक्तियों में भी शामिल है। रिलायंस इंडस्ट्री भारत में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी तथा फार्च्यून 500 कंपनी है। यह दुनिया के सबसे महंगी ज्यादा मुंबई स्थित एंटीला में रहते हैं। मुकेश अंबानी रिलायंस के संस्थापक स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी के पुत्र और रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप के अध्यक्ष अनिल अंबानी के बड़े भाई हैं। मुकेश के रिलायंस इंडस्ट्री का कारोबार रिफाइनरी पेट्रोकेमिकल, तेल, गैस और रिटेल जैसे क्षेत्रों में फैला हुआ है। उद्योग धंधे के साथ-साथ हुए इंडियन प्रीमियर लीग आईपीएल के अंतर्गत आने वाली टीम मुंबई इंडियंस टी-20 के भी मालिक है। सन 2012 में फोर्ब्स ने उन्हें दुनिया के सबसे अमीर स्पोर्ट्स ऑनर्स की सूची में शामिल किया था।

प्रारंभिक जीवन

मुकेश अंबानी का जन्म 19 अप्रैल , 1957 को यमन स्थित। आदेन शहर में धीरूभाई अंबानी और कोकिलाबेन अंबानी के घर में हुआ था। उस समय उनके पिता आदेन में काम करते थे। मुकेश अंबानी के छोटे भाई अनिल अंबानी है और उनकी दो बहने भी हैं- दीप्ति अंबानी और नीना कोठारी । 1970 के दशक तक मुकेश अंबानी का परिवार मुंबई के भूलेश्वर में दो कमरों के मकान में रहता था पर उसके बाद जो भाई ने मुंबई के कोलबा क्षेत्र में एक 14 मंजिल इमारत खरीद लिया जहां मुकेश और अंबानी परिवार के अन्य सदस्य कई सालों तक रहते रहे।

मुकेश की प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के पदे रोड स्थित ‘ हिल ग्रांज हाई स्कूल में हुई है। यहां मुकेश के करीबी मित्र आनंद जैन उनके सहपाठी थे और इसी स्कूल में उनके छोटे भाई अनिल अंबानी भी पढ़ते थे। मुकेश अंबानी ने ‘ इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मटुंगा’ श्री केमिकल इंजीनियरिंग ऑफ बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की डिग्री ग्रहण की, इसके बाद स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए किया। उसके बाद मुकेश अंबानी अपने पिता की मदद के लिए उन्होंने अपनी पढ़ाई छोड़ दी।

कैरियर

सन 1980 में जब इंदिरा गांधी सरकार ने पी एफ आई ( पॉलिस्टर फिलामेंट यान) का निर्माण निजी क्षेत्र के लिए खोल दिया तब लाइंस भी लाइसेंस के लिए अपने दावत दावरी पेश की और टाटा, बिरला तथा 43 और दिग्गज के मध्यम लाइसेंस पाने में कामयाबी हासिल की। पी एफ वाई के कारखानों के निर्माण के लिए धीरूभाई अंबानी ने मुकेश को एमबीए की पढ़ाई बीच में ही छुड़वा करके बुलवा लिया। मुकेश अंबानी अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़कर कर भारत आ गए और कारखानों के निर्माण में जुट गए।

मुकेश अंबानी के नेतृत्व में ही रिलायंस में भारत के सबसे बड़े दूरसंचार कंपनी में से एक ‘ रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड’ ( रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड) की स्थापना की, मुकेश अंबानी ने जामनगर गुजरात में बुनियादी असर की विश्व की सबसे बड़ी पेट्रोलियम रिफाइनरी की स्थापना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। सन 2010 में इस रिफाइनरी की क्षमता 660000 बैरल प्रतिदिन टी यानी 3 करोड़ 30 लाख टन प्रतिवर्ष। लगभग 100000 करोड रुपए के निवेश से बनी इस रिफाइनरी में पेट्रोकेमिकल, पावर जेनरेशन, पोत संबंधित आधारभूत ढांचा है.

धीरे-धीरे कड़ी मेहनत और ईमानदारी के साथ उन्होंने पेट्रोकेमिकल्स खुदरा और दूरसंचार सहित विभिन्न क्षेत्रों में कारोबार का विस्तार किया। अपने पिता की मृत्यु के बाद उन्होंने और उनके भाई अनिल ने रास्ते अलग अलग कर लिया जिसके परिणाम स्वरूप कंपनी का विभाजन हो गया। उनकी गहन व्यवस्था एक समाज और अधिक से अधिक ऊंचाई को प्राप्त करने के लिए उन्होंने भारत में नवोदित व्यवसायिक दूरदर्शिता के लिए एक आइकन बनाया गया। उन्होंने ना केवल अपने परिवार के लिए बल्कि अपने हजारों शेयरधारकों और कर्मचारियों के लिए भी महान संपत्ति बनाई है। वह भारत के व्यापारिक समुदाय के बीच एक जीवित किवदंती है और दुनियाभर के लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का काम करते हैं।

  • उनका जन्म 19 अप्रैल, 1957 को अदन, यमन में धीरूभाई अंबानी और उसकी पत्नी कोकिला भाई अंबानी के घर हुआ था।
  • उनके पिता 1958 मैं मुंबई जाने से पहले या मन में एक फॉर्म में काम करते थे जहां धीरुभाई ने मसालों का अपना व्यवसाय शुरू किया था। बाद में उनके पिता ने कपड़ा व्यवसाई की ओर रुख किया और धीरे-धीरे भारत के सबसे प्रसिद्ध व्यवसाई मैग्नेट में से एक में बदल गए।
  • मुकेश अंबानी और उनके भाई ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा साथ में हिलग्रेंज हाई स्कूल, मुंबई से प्राप्त की बाद में उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी माटुंगा में दाखिला लिया और केमिकल इंजीनियरिंग में बैचलर की डिग्री हासिल की।
  • इसके बाद मुकेश अंबानी बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर करने के लिए स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी यूएसए में चले गए, लेकिन बाद में अपनी पिता की रिलायंस इंडस्ट्री की स्थापना करने में सहायता करने के लिए अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ करके वापस वह भारत लौट आए।

व्यवसाय

  • मुकेश अंबानी जब भारत लौटे तब इंदिरा गांधी द्वारा संचालित प्रोग्राम के तहत Ployester filament yarn (PFY) निर्माण संयंत्र स्थापित करने में मदद की। 1981 में, वह आधिकारिक तौर पर अपने पिता के साथ रिलायंस इंडस्ट्री में शामिल हो गए।
  • वहां पॉलिस्टर फाइबर में और आगे पेट्रोकेमिकल में रिलायंस के पिछड़े एकीकरण के प्रवर्तक के रूप में उभरे। इस प्रक्रिया के दौरान उन्होंने 51 नई विश्व स्तरीय विनिर्माण सुविधाओं का निर्माण किया, जिसमें विभिन्न तकनीकों को शामिल किया गया जिसमें रिलायंस के विनिर्माण क्षमताओं को कई गुना बढ़ा दिया।
  • उन्होंने रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड की स्थापना में भी मदद की जो सूचना और संचार प्रौद्योगिकी पहल पर केंद्रित था।
  • दोनों भाइयों के बीच कारोबार के बंटवारे के बाद उनके छोटे भाई ने कंपनी को संभाल लिया जिसे अब रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड के नाम से जाना जाता है।
  • इसके साथ ही साल 2018 में, उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज 111.9 मिलियन डॉलर मूल्य क्या इंडियन प्रीमियर लीग में, मुंबई इंडियंस की एक क्रिकेट टीम को खरीदी।
  • उनकी कंपनी वर्तमान में पांच प्रमुख क्षेत्रों में चल रही है अन्वेषण और उत्पादन, शोधन और विपणन, पेट्रोकेमिकल, खुदरा और दूरसंचार। इसे फार्च्यून ग्लोबल 500 कंपनियों में स्थान दिया गया है और यह बाजार मूल्य के हिसाब से भारत की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है।
  • उन्होंने बैंक ऑफ अमेरिका कॉरपोरेशन के निदेशक मंडल और विदेशी संबंधों पर परिषद की अंतरराष्ट्रीय सलाहकार बोर्ड में काम किया। इसके अलावा उन्होंने भारतीय प्रबंध संस्थान बेंगलुरु IIMB के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया है।

प्रमुख कार्य/Major Works

  • यह उनके कड़ी मेहनत का ही नतीजा है कि भारत में जामनगर में दुनिया की सबसे बड़ी जीवनी पेट्रोलियम रिफाइनरी का निर्माण हुआ। इस रिफाइनरी में पेट्रोकेमिकल्स, बिजली उत्पादन, बंदरगाह और संबंधित बुनियादी ढांचा के साथ एकीकृत किया गया है।
  • उनके सबसे उल्लेखनीय कार्यों में से एक रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड की स्थापना भी शामिल है। जो दुनिया में सबसे बड़ी और सबसे जटिल सूचना और संचार प्रौद्योगिकी पहल है।

Awards & Achievement

  • 2004 में, उनको दूरसंचार में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के लिए ‘world communication Award’ ‘ विश्व संचार पुरस्कार’ से भी नवाजा गया है।
  • 2007 में उन्हें यूनाइटेड स्टेट इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा ‘united states india Business Council Leadership Award’ से भी सम्मानित किया गया है।
  • 2010 में, मुकेश अंबानी को एनडीटीवी द्वारा बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर से भी सम्मानित किया गया है।
  • 2010 में ही, उन्हें पहने सिलविया यूनिवर्सिटी द्वारा ‘School of Engineering and Applied Science Dean Medal’ भी प्रदान किया गया है
  • इसके साथ ही 2010 में ही, मुकेश अंबानी को D. Sc ( Doctor of Science) की डिग्री उपाधि महाराजा सयाजीराव यूनिवर्सिटी बड़ौदा से मिली है।
  • 2014 में, वह सब उसकी दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोग की सूची में 36 स्थान पर थे।

मुकेश अंबानी के जीवन से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी

मुकेश अंबानी के पास कुल संपत्ति

दुनिया के सबसे धनी व्यक्तियों की लिस्ट में मुकेश अंबानी का भी नाम शामिल है, इनकी कुल संपत्ति लगभग 49.9 अरब डॉलर है। इसके अलावा मुकेश अंबानी को कारों का भी काफी शौक है इसी चलते उनके पास 25 करोड़ से भी ज्यादा की वैनिटी कार है। यही वजह है कि उनके पास कहीं लग्जरी कारों का कलेक्शन है। यही नहीं उनके पास निजी जेट विमानों का भी अच्छा संग्रह है, बोइंग बिजनेस जेट 2, फाल्कन 900Ex, एयर बस 319, कॉपीराइट जेट इत्यादि उनके निजी जेटों की सूची में शामिल है।

मुकेश अंबानी के जीवन से जुड़ी रोचक बातें

  • मुकेश अंबानी को दुनिया के सबसे अमीर बिजनेसमैन में शामिल किया जाता है, इसके बावजूद मुकेश अंबानी का रहन-सहन की शैली बहुत ही सादा है। आमतौर पर वे वाइट शर्ट और ब्लैक पेंट ही पहनना पसंद करने हैं।
  • मुकेश अंबानी को फिल्में देखना काफी पसंद है शायद यही कारण हो सकता है कि उन्होंने अपने घर में एक थिएटर भी बनवाया है, वे हफ्ते में कम से कम तीन फिल्में जरूर देखते हैं।
  • मुकेश अंबानी जी पब्लिक स्पीकिंग में काफी डरते हैं, लेकिन इन सबके बावजूद भी उन्होंने बहुत सारी अच्छी और प्रेरणादायक स्पीच भी दी है जिन तू ही लोगों को काफी सराहना भी की है।
  • मुकेश अंबानी जी भारत के इकलौते ऐसे बिजनेसमैन है, जिनकी सुरक्षा को लेकर के भारत सरकार सजग है। उन्हें सरकार के द्वारा जड़ सिक्योरिटी भी उपलब्ध कराई गई है वह हमेशा जड़ सिक्योरिटी के साथ ही घूमते हैं।
  • मुकेश अंबानी पूरे भारत पर सबसे ज्यादा कर यानी कि टैक्स देने में भी आगे है। भारत के कुल टैक्स का करीब 5 फ़ीसदी टैक्स इन की कंपनी द्वारा ही भरा जाता है।
  • मुकेश अंबानी जी शाकाहारी हैं, साथ ही में वह किसी तरह का नशा पान या ड्रिंकिंग स्मोकिंग नहीं करते हैं। उन्हें खाने में गुजराती और साउथ इंडियन खाना काफी शौक है उन्हें खाने में चाट, डोसा और भुनी हुई मूंगफली काफी पसंद है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recommended
दोस्तों चाहे आप एक Youtuber हो, या फिर एक App…
DMCA.com Protection Status