Inspirational Success Story – सफलता पाने के तरीके

सफलता एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही पढ़ते ही प्रत्येक व्यक्ति के अंदर में एक सकारात्मक ऊर्जा निकलने लगती है। जो भी व्यक्ति की सफलता के बारे में सोचता है, उसके अंदर सफलता को पाने की इच्छा जाने लगती है।

Inspirational Success Story – सफलता पाने के तरीके

दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति कभी ना कभी सफलता के बारे में जरूर सोचता है। इसके साथ ही उसके मन में कई सारे सवाल भी उभरने लगते हैं। कि किस तरह से जिंदगी में सफलता को पाया जाए। आजकल के माता पिता के विचार ऐसे हैं कि अगर बच्चा स्कूल में अच्छे मार्क्स लाता है तभी वह जीवन में सफल हो पाएगा। लेकिन किसी भी बच्चे का मार्कशीट देखकर सफलता के बारे में आप पता नहीं कर सकते। लगातार मेहनत आपको खुद सफलता के शिखर तक पहुंचा देती है। आजकल के युवाओं में केवल मोटिवेशनल स्टोरी ही पढ़ना उन्हें अच्छा लगता है। लेकिन जब इन मोटिवेशनल स्टोरीज को जिंदगी में अमल करने की बात की जाती है तो वह इन से पीछे हट जाते हैं। अगर हमें जिंदगी में सफलता लेनी है तो हमें अपनी जिंदगी में रिस्क लेने पड़ेंगे। जब तक आप रिस्क नहीं लोगे तब तक आप सफल कैसे बनोगे।

महान कवि हरिवंशराय बच्चन जी की एक कविता है, जिसमें उन्होंने सफलता के लिए संघर्ष करना बहुत ही खूबसूरत तरीके से बताया है।। अगर आप जरा गौर से उसे पड़ जाएगा तो आप किस की खूबसूरती और के पीछे सफलता आसानी से दिख जाएगी

तू न थकेगा कभी,

तू न रुकेगा कभी,

तू न मुड़ेगा कभी,

कर शपथ, कर शपथ, कर शपथ,

अग्नीपथ ,अग्नीपथ, अग्निपथ।”

हरिवंश राय जी की कविता कई लोगों को अपने दिल में सफलता को पाने के लिए दृढ़ निश्चय दिलाने का काम करती है। हर व्यक्ति के पास सफल होने के लिए एक मास्टर प्लान होता है लेकिन वह डर के कारण उस काम पर नहीं करता। व्यक्ति डर से अपने उस मास्टर प्लान को किसी के साथ साझा नहीं करता ताकि कोई दूसरा उसे पछाड़कर सफल ना हो जाए। ऐसा करके अगर वह सोचता है कि वह सही कर रहा है तो उसे बड़ा मूर्ख और कोई नहीं हो सकता। आज हम अपने लेख पर एक ऐसे ही मोटिवेशनल स्टोरी पढ़ेंगे जो सफलता के लिए आपके अंदर चिंगारी डाल देगी।

सबसे जरूरी आत्मविश्वास बनाए रखें

अगर आपको सफलता हासिल करना है तो आपको अपना आत्मविश्वास बढ़ाना होगा, अगर आपके अंदर में आत्मविश्वास नहीं होगा तो आप जिंदगी में रिस्क नहीं ले पाएंगे और जब आप रिस्क नहीं ले पाएंगे तब आप सफल भी नहीं हो पाएंगे। सफल लोगों में एक अलग ही आत्मविश्वास झलकता है। जाहिर है कि वे खुद में और जो कुछ भी वह करते हैं उसमें यकीन करते हैं। यहां उनमें पहले से ही था, आपके अंदर भी आत्मविश्वास है उसे बस जगाने की जरूरत है। आपके अंदर भी आत्मविश्वास है उसे पहचानो और आगे बढ़ो। हमें रिस्क लेने से घबराना नहीं चाहिए बल्कि पूरे आत्मविश्वास के साथ रिस्क लेकर के सफलता के रास्ते में चलना चाहिए। इसी के बल पर आप सफलता हासिल कर सकते हैं। आप अपना आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए अपने ऊपर सबसे पहले विश्वास रखें।

अगर आप जिंदगी में सफलता चाहते हैं तो अपने दिमाग में यह घाट बांध कर के रख ले, कैसे भी करके आपको जिंदगी में सफल होना है। जिंदगी में कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता।

दिमाग से सोचे नहीं बल्कि दिल की सुने

जी हां, अगर आप दिमाग की सुनोगे तो आप कभी भी सही निर्णय नहीं ले पाओगे, क्योंकि दिमाग के सारे तथ्य को जोड़कर के निर्णय पर पहुंचता है, आपका दिमाग अच्छे और बुरे दोनों को तुलना करता है। जिससे आपको डिसीजन लेने में परेशानी होती है। यह हमें कह रहे हैं इसे वैज्ञानिकों ने प्रूफ किया है। जब हम दिल की सुनता है तो हमारा निर्णय एकदम सही होता है। दरअसल जो हमारा मन चाहता है वह दिमाग नहीं चाहता लेकिन वह दिल चाहता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि हमारा दिमाग बहुत ही ज्यादा कॉन्शियस होता है और वह बहुत सारे तथ्य और परिणामों को जोड़कर के किसी भी चीज का डिसीजन लेने कहता है। दिल हमारे मन की सुनता है इसलिए अगर आप सफल होना चाहते हैं तो दिमाग की नहीं बल्कि दिल की सुनो। रिस्क लेने में दिल कभी डरता नहीं, वह निडर है, आपको जब भी कोई बड़ा रिस्क लेना हो तो अपने दिल की सुनो।

रिस्क लेने से पहले आप योजना बना ले

जब भी आप कोई अपने जीवन में बड़ा लक्ष्य तय करने का सोचते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको एक अच्छी सी योजना बनानी होती है।

जैसे कि आप जानते होंगे कि बिना प्लानिंग किए कोई भी लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा सकता। उसी तरह इसको भी एक योजना की जरूरत होती है। अगर आपने जड़ रिस्क ले लिया और इसकी कोई भी प्लानिंग नहीं की तो यह निश्चित है कि आप भविष्य में अपने लक्ष्य से भटक जाएंगे और आपका उद्देश पूरा नहीं हो पाएगा। इसलिए सफलता के लिए बहुत जरूरी है कि आप रिस्क लेने से पहले पूरी योजना बना ले और फिर अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़े। आपका जो भी लक्ष्य है उसे पाने के लिए आप एक निश्चित समय बना लें और यह तय कर ले कि आपको उसे समय तक अपना लक्ष्य को पा लेना है।

सबसे जरूरी बात अपने लक्ष्य को पाने के लिए रिस्क ले, लेकिन अगर पूरी योजना के साथ मेहनत आप नहीं करते तो वह बेकार हो जाता है। इसलिए अगर आपका लक्ष्य बड़ा है तो उसे आपका ही छोटे-छोटे भागों में बांट सकते हैं। आप अपने समय का सदुपयोग करें उसे बर्बाद ना करें। इसके बाद सफलता आपके कदम चूमेगी।

समय की कीमत समझे, लक्ष्य नहीं तरीका बदलें

यह बात तो एकदम सच है कि दुनिया में हर इंसान के पास 1 दिन में मात्र 24 घंटे की होते हैं, हर इंसान इन 24 घंटों को अपने हिसाब से उपयोग लाता है। वह इन्हीं 24 घंटों का सही इस्तेमाल करके सफल हुए हैं। दरअसल वे लोग जिन्होंने इन 24 घंटों की कीमत को समझा है वही अपनी जिंदगी में सफल हुआ है। इन्होंने कभी भी अपने समय को बर्बाद नहीं किया। अगर आपको भी सफल होना है तो फालतू समय ना बर्बाद करें। अगर सफल होने के लिए किसी सत्य के बाद बात करें तो संसार की सबसे मूल्यवान चीज समय ही है। जो इस दुनिया में इस समय का सही उपयोग कर लेता है, वही व्यक्ति अपने जीवन में सफलताओं की सीढ़ी चढ़ता है।

कई लोग लक्ष्य बना तो लेते हैं, लेकिन सफलता न मिलने पर लक्ष्य को बदल लेते हैं, ऐसा अपने लक्ष्य के साथ हर किस नहीं करना चाहिए, तो फिर लंच को नहीं बल्कि अपने लक्ष्य को प्राप्त करने वाले तरीके को आप बदले। जी हां, यदि कोई कार्य कठिन है और आप उस कार्य को करने में बार-बार असफल हो रहे हैं तो कार्य को मत छोड़िए बल्कि उस कार्य को करने का तरीका बदल लीजिए, आप अपनी जिंदगी में जरुर सफल होंगे।
हर व्यक्ति के जिंदगी में कई सारी परेशानियां और कठिनाइयां आती है, और कई व्यक्ति अपनी जिंदगी में परेशानियां और कठिनाइयों का सामना डटकर करते हैं। तो कई व्यक्ति ऐसे भी होते हैं जो इन परेशानियों से पीछे भागते हैं। ज़िद्दी को आसान बनाने के लिए कठिन कार्य को डालो मत बल्कि कठिन कार्यों का जमकर सामना करो और अपनी जिंदगी को आसान बना लो। चुकी कार्य को पूरा करने से जीवन आसान होता है ना कि टालते रहने से।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *