Kisan Vikas Patra योजना 2019-2020 किसान विकास योजना

अगर आप अपने पैसे को दुगना करना चाहते हैं, तो किसान विकास पत्र योजना 2019-20 आपके काम आ सकती है। आजकल बैंकों में ऐसी कोई योजना नहीं है जिससे आपके पास से दुगने हो सकते हैं। लेकिन किसान विकास योजना में मात्र 118 महीने में आपके निवेश को डबल कर देता है। आज हमारे इस लेख में हम लोग आप लोगों को यह बताएंगे कि किसान विकास योजना 2019 क्या है? किसान विकास योजना में आप किस राशि निवेश कर पाओगे।

किसान विकास पत्र पोस्ट ऑफिस की लघु बचत योजनाओं में से एक है। अच्छी ब्याज दर के साथ-साथ सरकारी गारंटी वाली इस योजना में आप अपने पैसे निवेश करके बढ़िया ब्याज कमा सकते हैं। इस वक्त इस योजना में 7.7 प्रतिशत की दर से ब्याज मिल रहा है। अगर इस ब्याज दर से अगर आपको ही रकम जमा करते हैं तो वह 112 महीने से लेकर के 118 महीने में दुगने हो जाते हैं।

Kisan vikas Patra क्या है?

किसान विकास पत्र पोस्ट ऑफिस द्वारा संचालित एक लघु बचत योजना है, यह एक तरह का प्रमाण पत्र होता है जिसको भी व्यक्ति खरीद सकता है। इसे बांड की तरह प्रमाण पत्र रूप में जारी किया जाता है। इस पर एक तयशुदा ब्याज मिलती है। इसे देशभर में फैले डाकघरों में खरीदा जा सकता है। इस सरकारी योजना में आपके पास नॉमिनेशन की भी सुविधा मौजूद होती है। इस योजना के अंतर्गत आप अपने सर्टिफिकेट एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को भी ट्रांसफर कर सकते हैं। यहां तक कि आप एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में भी से ट्रांसफर किया जा सकता है। देशभर के कुछ मुख्य बैंकों से भी इसे ऑनलाइन तरीके द्वारा खरीदा जा सकता है।

किसान विकास पत्र की शुरुआत वर्ष 1998 में की गई थी। हालांकि वर्ष 2011 में सरकार ने इस योजना का लाभ देना रोक दिया था। लेकिन भारत की तत्कालिक सरकार ने इसे पुनः आरंभ किया है। आज किसान विकास पत्र योजना भारत के कई लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है।

किसान विकास पत्र किस तरह से खरीदें?

किसान विकास पत्र एकता का प्रमाण पत्र है जिसे कोई भी व्यक्ति अपने लाभ के लिए खरीद सकता है। इससे प्राप्त होने वाला ब्याज का भी लाभ उठा सकता है, किसान विकास पत्र को 18 वर्ष के कम आयु के बच्चों के लिए भी खरीदा जा सकता है। इसका एक फायदा तो यह है कि आप अपने बच्चों के लिए उनके भविष्य के लिए राशि जमा कर सकोगे। इस योजना के अंतर्गत निवेश करने वाले लोगों को सरकार एक बेहतर रिटर्न देती है। इस योजना के आधार पर देश के विभिन्न डाकघरों पर यह प्रमाण पत्र लोगों को बेची जाती है। आप इन डाकघरों से अलग-अलग तरह के किसान विकास पत्र भी खरीद सकते हैं। अंता प्रमाण पत्र खरीदने वालों को अपने मन के मुताबिक प्रमाण पत्र खरीदने के लिए दूसरे डाकघरों पर भी जाना पड़ सकता है। आप किसान विकास पत्र के लिए सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी जा सकते हैं और वहां से ऑनलाइन एप्लीकेशन डाउनलोड कर सकते हैं। लेकिन फिर भी हमने नीचे आपको इसकी सारी प्रक्रिया बताई है।

Step 1:- सबसे पहले आपको भारत सरकार द्वारा निर्धारित इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा, वहां से आप किसान विकास पत्र का एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं। आप इस लिंक पर क्लिक करके भी इसे डाउनलोड कर सकते हैं। Download Official Application form

Step 2 :- इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करके आप इसे पूरी तरह से भर कर के अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस पर जमा कर सकते हैं।

  • अगर आप किसान विकास पत्र किसी एजेंट के जरिए खरीदते हैं तो यह दिया गया एप्लीकेशन फॉर्म पूरी तरह से भर कर के एजेंट द्वारा पोस्ट ऑफिस पर जमा कर दिया जाता है।
  • यहां दिए गए सारे डॉक्यूमेंट को आप एप्लीकेशन के साथ लगा करके जमा करें।
  • एक बार डॉक्यूमेंट का वेरिफिकेशन हो जाने के बाद आपको किसान विकास पत्र का सर्टिफिकेट मिल जाता है।
  • किसान विकास पत्र का सर्टिफिकेट आपको हिफाजत के साथ रखना चाहिए क्योंकि मैच्योरिटी के समय यह आपको काम देता है।
  • इसके अलावा आप उन्हें यह रिक्वेस्ट कर सकते हैं कि आपके द्वारा प्राप्त होने वाला किसान विकास पत्र आप ईमेल के द्वारा भी प्राप्त कर सकते हो।
  • किसान विकास पत्र आप ₹500 से लेकर के ₹50000 तक के खरीद सकते हैं।

Types of kisan vikas patra ( किसान विकास पत्र के प्रकार)

किसान विकास पत्र के अंतर्गत तीन तरह के पत्र आते हैं, जिनके बारे में विस्तृत विवरण हमने नीचे दिया है।

  1. इस सूचना के आधार पर एक सिंगल होल्डर होता है। या किसान विकास पत्र कोई व्यस्क अथवा किसी आवश्यक के लिए भी खरीदा जा सकता है।
  2. इस योजना के आधार पर कई लोगों को एक साथ प्रमाण पत्र जिसे हम जॉइंट सर्टिफिकेट भी कहते हैं दिया जाता है। यह सर्टिफिकेट किसी एक व्यक्तिगत आदमी को ना दे कर के एक समूह या एक से अधिक व्यक्ति को दिया जाता है। इस प्रमाणपत्र के अंतर्गत दो व्य्षक लोगों के नाम एक साथ होते हैं।
  3. यदि 2 लोगों में से या किसी समूह में से किसी एक व्यक्ति की भी मौत हो जाती है, तो किसान विकास पत्र में मौजूद अन्य व्यक्तियों जिनके नाम अंकित है उन्हें इसका लाभ मिलता है।

किसान विकास पत्र के फायदे (Benefits of kisan Vikas Patra Scheme)

किसान विकास पत्र के बहुत सारे फायदे हैं, जिन्हें हमने नीचे बताया है।

  • किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत आप को सरकार की तरफ से गारंटी और सुरक्षित रकम प्राप्त होता है।
  • किसान विकास पत्र योजना के अंतर्गत आपको 80 D के अंतर्गत आपको टैक्स में 10% तक की छूट दी जाती है।
  • किसान विकास पत्र का इस्तेमाल आप collateral या security के तौर पर बैंक सुरक्षित लोन भी ले सकते हैं।
  • इसके अलावा जो लोन आपको बैंक द्वारा प्रदान किया जाता है उस पर काफी कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध की जाती है।
  • किसान विकास पत्र पर दिया जाने वाला ब्याज दर एक निश्चित ब्याज दर होता है, जिस पर आपको मार्केट रिस्क नहीं होता।

किसान विकास पत्र लेने के लिए के क्या-क्या योग्यता होनी चाहिए (Eligibility Criteria kisan vikas Patra Scheme)

किसान विकास पत्र को खरीदने के लिए भारत सरकार द्वारा एक मापदंड जिसे आप योग्यता भी कह सकते हैं निर्धारित की गई है। जिसे हमने सूचीबद्ध तरीके से नीचे बताया है

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए एप्लीकेंट की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए।
  • इस योजना का लाभ वही उठा सकते हैं जो भारत के नागरिक हो।
  • किसी भी भारतीय सरकारी बैंक पर एप्लीकेंट का एक खाता होना चाहिए।
  • HUF या NRI इस योजना का लाभ उठा नहीं सकते।
  • इसके अलावा ट्रस्ट और संस्थान भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • भारत में रह रहे भारतीय लोग इस योजना का पूर्ण तरीके से लाभ उठा सकते हैं।

दोस्तों आज के हमारे इस लेख में हम लोगों ने आप लोगों को यह बताने की कोशिश की है कि आप लोग किस तरह से किसान विकास पत्र खरीद सकते हो? किसान विकास पत्र के माध्यम से आप अपने पैसे को 118 महीनों में दुगने कर सकते हो। मैं यह आशा करता हूं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा इससे संबंधित अगर आपके कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट बॉक्स पर कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *